कोरोना वायरस

कोरोना के प्रारंभिक लक्षण दिखने पर क्या बरतें सावधानियाँ

कोरोना काल के मौजूदा वातावरण में यदि कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव हो जाए और प्रारंभिक लक्षण दिखने लगें तो हड़बड़ाने की बिल्कुल आवश्यकता नहीं। बल्कि और अधिक संयम से काम लेना चाहिए। कोरोना से जल्दी रिकवरी के लिए हम घर में ही कुछ हल्के वर्कआउट आजमा सकते हैं। ऐसे एक्सरसाइज और वक्त वर्कआउट को अपनाने से आपको कोविड-19 से उबरने में अच्छी सहायता मिल सकती है। हालांकि, एक हालिया रिसर्च में इन वर्कआउट को लाभदायक बताते हुए इन्हें करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना भी आवश्यक बताया गया है।

कोरोना वायरस लक्षण दिखने पर करेंगे एक्सरसाइज-

कोविड-19 से जल्द से जल्द ठीक होने के लिए दोबारा से सामान्य जीवन बिताने के लिए अपने फेफड़ों को राहत पहुंचाना बहुत जरूरी है, जिनमें एरोबिक भी शामिल हैं-

वॉकिंग-
नियमित टहलने को सबसे अच्छा और सबसे आरामदायक व्यायाम माना जाता है, जिसे बिना किसी ज्यादा परेशानी के आसानी से किया जा सकता है। कोरोना काल की परिस्थितियों या लॉकडाउन के कारण यदि बाहर निकलना संभव नहीं हो पा रहा हो तो अपने घर के अंदर, छत पर या बगीचे में भी आराम से वॉक कर सकते हैं। यह वास्तविक तथ्य है कि एक घंटा पैदल चलने से शरीर की अतिरिक्त कैलोरी घटाने में भी सहायता मिलती है।

आर्म वर्कआउट-
स्ट्रेंथ ट्रेनिंग ऑफ आर्म्स का अर्थ है कि अपनी भुजाओं को मजबूत बनाने के लिए वेटलिफ्टिंग जैसे एक्सरसाइज करना। लेकिन ध्यान रहे, इसके लिए जिम जाने या फिर भारी-भरकम वजन उठाने की बिल्कुल जरूरत नहीं है। घर में 1-2 किलो के सामान को भी आसानी से उठाया जा सकता है। बाजुओं की मांसपेशियों को स्ट्रांग बनाने के लिए प्रतिदिन 5-7 मिनट आर्म वॉकआउट करना ही चाहिए।

स्ट्रेंथ ट्रेनिंग ऑफ़ लेग्स-
अपने वर्कआउट और एक्सरसाइज के रूटीन में थोड़ा समय अपने पैरों के लिए भी निकालना चाहिए। स्क्वाट्स और लंज्स दोनों बेहतर एक्सरसाइज हैं। आधे घंटे की स्ट्रेंथ ट्रेनिंग से पैरों को मजबूत बनाने के साथ-साथ शरीर की 90 कैलोरी को भी घटाया जा सकता है।

जल्दी में ही हुए एक रिसर्च में यह भी सामने आया है कि कोरोना वायरस के लक्षण वाले लोगों को इस तरह के वर्कआउट करने से उनके सांस संबंधी लक्षण, याददाश्त, कमजोरी व थकान संबंधित समस्याओं में काफी सुधार देखा गया है। योग, व्यायाम, प्राणायाम करने से भी सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। नियमित व्यायाम करने से शरीर की इम्यूनिटी पावर को दोबारा बढ़ाने में भी काफी मदद मिलती है।

Related posts

COVID-19 मुक्त घर के लिए क्या करें और क्या न करें

admin

कोरोना वायरस या वुहान कोरोना वायरस – तेजी से फैलने वाला वायरस

admin

कोरोना और मधुमेह (Diabetes): सुरक्षित रहने के 5 तरीके

admin

Leave a Comment