डाइट

छोटी इलायची के बड़े फायदे

इलायची दो तरह की होती है, छोटी इलायची और बड़ी इलायची। छोटी इलायची का सेवन मुंह की दुर्गंध दूर करने, मिठाई और व्यंजनों की खुशबू बढ़ाने में किया जाता है। और, बड़ी इलायची का उपयोग मसालों के तौर पर किया जाता है। दोनों इलायची के रूप, आकार, रंग और स्वाद में भी अंतर होता है। छोटी इलायची का रंग हरा होता है। जबकि, बड़ी इलायची का रंग काला होता है। इनके अलग-अलग रंगों की वजह से ही इन्हें हरी इलायची और काली इलायची के नाम से भी बुलाते हैं।

इलायची में मौजूद कुछ पोषक तत्व-

इलायची में कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, आयरन और डाइटरी फाइबर पाए जाते हैं।

आइए जानते हैं, छोटी इलायची खाने के फायदे-

● पाचन से जुड़ी समस्याओं से राहत-

इलायची में ऐसे पोषक तत्व होते हैं, जो पाचन तंत्र को दुरुस्त रखते हैं और पेट की जलन को कम करते हैं। जिससे कब्ज, एसिडिटी, अपच जैसी समस्याओं से आराम मिलता है।

● हिचकी में आराम-

अकसर काम करते समय या किसी से बात करते समय अचानक से हिचकी आने लगती हैं, और उस समय हम समझ नहीं पाते की हिचकी आना कैसे बंद हो। ऐसी हालत में इलायची आपके लिए काफी कारगर साबित हो सकती है। अगली बार जब हिचकी आए तो एक इलायची मुंह में डालें और कुछ देर तक उसे धीरे-धीरे चबाते रहें इससे हिचकी जल्दी बंद हो जाती है।

● ब्लड प्रेशर कम करने में सहायक-

एक रिसर्च के अनुसार इलायची का रोजाना सेवन करने से ब्लड प्रेशर में आराम मिलता है। इस अध्ययन के अनुसार देखें तो जो लोग हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन के मरीज हैं, उन्हें इलायची का नियमित सेवन करना चाहिए। इसमें मौजूद पोटेशियम और मैग्नीशियम जैसे खनिज पदार्थ ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मदद करते हैं।

● भूख बढ़ाने में उपयोगी-

इलायची हमारे पाचन तंत्र को दुरुस्त रखती है। जिस वजह से शरीर का मेटाबॉलिज्म भी अच्छी प्रकार से काम करता है और भूख भी बढ़ती है। जिन लोगों को समय पर भूख ना लगना या कम भूख लगने की समस्या है उन्हें इलायची का सेवन करना चाहिए।

● सर्दी खांसी और गले की खराश से आराम-

जैसे ही मौसम बदलता है, मौसम के बदलने की वजह से अक्सर लोगों को सर्दी खांसी की समस्या हो जाती है। कमजोर इम्यूनिटी वाले लोग बहुत जल्दी सर्दी की चपेट में आते हैं। सर्दी होने पर गले में खराश होने लगती है। इलायची का सेवन खांसी और गले की खराश से आराम दिलाने में मदद करता है। यही कारण है कि खांसी और सर्दी जुकाम दूर करने की सबसे प्रमुख आयुर्वेदिक औषधि सितोपलादि चूर्ण में भी इलायची मौजूद होती है।

● अस्थमा में फायदेमंद-

इलायची में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो फेफड़ों में खून के प्रवाह को ठीक रखते हैं। जिससे फेफड़े स्वस्थ रहते हैं और खांसी, अस्थमा जैसी बीमारियों से बचाव होता है।

● उल्टी और मिचली से राहत-

जिन लोगों को पहाड़ी रास्तों पर सफर के दौरान उल्टी या मिचली की समस्या होती है, उन्हें सफर शुरू करने से पहले इलायची के कुछ दाने खाने चाहिए। यह मिचली और उल्टी रोकने का सबसे आसान और घरेलू उपाय है।

● मुंह की दुर्गंध दूर करने में सहायक-

छोटी हरी इलायची का सबसे ज्यादा उपयोग माउथ फ्रेशनर के रूप में किया जाता है। अगर आप भी मुंह की बदबू से परेशान हैं तो इलायची जरूर खाएं।

● तनाव दूर करने में सहायक-

इलायची की सुगंध आपके मूड को तरोताजा बनाए रखती है। इसलिए अधिकांश लोग सुबह-सुबह इलायची की चाय का सेवन करते हैं। इलायची की चाय पीने से पेट और सांसो से जुड़े रोगो से तो छुटकारा मिलता ही है साथ ही यह तनाव को भी दूर करती है और मूड को फ्रेश बनाए रखती है। तनाव या डिप्रेशन के मरीजों को स्ट्रेस भगाने के लिए रोज इलायची जरूर खानी चाहिए।

● डायबिटीज को करे नियंत्रित-

छोटी इलायची डायबिटीज नियंत्रण में भी मददगार है। यह बात बीएमसी कंप्लीमेंट्री मेडिसिन एंड थेरेपी द्वारा किए गए एक शोध से प्रमाणित होती है। शोध में माना गया है कि हरी इलायची के गुण में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव पाया जाता है। यह गुण इंसुलिन की सक्रियता को बढ़ाने में मदद करता है जो बड़े हुए ब्लड शुगर को कम करने में सहायक हो सकता है। इस आधार पर डायबिटीज के मरीज को इलायची खाने से फायदे हो सकते हैं।

● शरीर को करती है डिटॉक्स-

शरीर में मौजूद विषैले और हानिकारक पदार्थों को बाहर निकालने के लिए भी इलायची काफी मददगार हो सकती है। विशेषज्ञों की मानें तो इलायची में पानी के सहारे शरीर में मौजूद अशुद्धि निकालने की प्राकृतिक क्रिया को बढ़ावा देने की क्षमता मौजूद होती है। इसी कारण हरी इलायची शरीर को विषैले पदार्थों से मुक्त रखने में मदद कर सकती है।

● त्वचा के लिए लाभकारी-

आयुर्वेद में कुष्ठ रोग की दवा बनाने में भी इलायची प्रयोग की जाती है। इस आधार पर माना जा सकता है कि त्वचा से संबंधित कुछ विशेष संक्रमण को ठीक करने में भी इलायची पाउडर काफी फायदेमंद सिद्ध हो सकता है।

● बढ़ाती है याददाश्त-

एक अध्ययन के अनुसार, इलायची के औषधीय गुण सीखने और याददाश्त को बढ़ाने में कारगर साबित हो सकते हैं। इसके लिए चाय में या अन्य खाद सामग्री में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। माना जाता है कि चुटकी भर इलायची बेहतर परिणाम देने की क्षमता रखती है।

Related posts

नारियल तेल के फायदे अनेक

admin

आइए जानते हैं, मखाने खाने के फायदे

admin

लीवर का ख़्याल रखने के लिए आहार में शामिल करें ये 10 चीजें

admin

Leave a Comment