डाइट

आइए जानते हैं, मखाने खाने के फायदे

सूखे मेवे में शामिल होने वाले मखाने को न केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया में इस्तेमाल किया जाता है। जो खाने में पौष्टिक और स्वादिष्ट तो होता ही है, स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक होता है।

मखाना क्या है-

मखाना कमल के बीज को कहते हैं। यह खाने के लिए स्वादिष्ट और पौष्टिक खाद्य पदार्थ है। मखाने को खाद्य पदार्थ के रूप में हम तीन प्रकार से प्रयोग करते हैं- इसे भूनकर खाना, फ्राई करके खाना या फिर इसकी खीर बनाकर खाते हैं। यह स्वाद से भरपूर होने के साथ-साथ सेहत के लिए भी अत्यधिक लाभकारी है। मखाने में कैलोरी, प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, शुगर, कैल्शियम, पोटेशियम, सोडियम आदि पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं।

मखाने के औषधीय गुण-

मखाने में कई प्रकार के औषधीय गुण पाए जाते हैं। जो हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। एक शोध के अनुसार मखाने में एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटी ट्यूमर प्रभाव पाए जाते हैं। इसके अलावा इसका उपयोग बुखार, दस्त और पाचन तंत्र को सुधारने के लिए भी किया जाता है।

मखाने खाने के लाभ-

1. प्रोटीन का अच्छा स्रोत-

100 ग्राम में खाने में लगभग 10.71 ग्राम प्रोटीन पाई जाती है। इसके नियमित उपयोग से शरीर में प्रोटीन की आवश्यक मात्रा की पूर्ति के साथ उसकी कमी से होने वाली कई परेशानियों को दूर भी किया जा सकता है।

2. वजन कम करने में सहायक-

एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के अनुसार कमल के बीज मखाने का इथेनॉल और शरीर में फैट सेल्स को नियंत्रित करने में मददगार साबित हो सकता है। साथ ही यह फैट सेल्स के वजन को भी कम करता है। इसीलिए ऐसा कहा जा सकता है कि मखाने का सेवन वजन को कम करने में मददगार साबित हो सकता है।

3. ब्लड प्रेशर में लाभदायक-

मखाने के नियमित सेवन से ब्लड प्रेशर की समस्या से निजात पाई जा सकती है। कारण यह है कि इसके पाया जाने वाला अल्कलॉइड हाइपरटेंशन, यानि हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को नियंत्रित करने का काम कर सकता है। इसलिए मखाने का सेवन ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में सहायक है।

4. डायबिटीज़ में लाभ-

डायबिटीज की समस्या से राहत पाने के लिए भी मखाने का उपयोग किया जा सकता है। एक शोध से पता चलता है कि मखाने में पाए जाने वाले रेसिस्टेंट स्टार्च में हाइपोग्लाइसेमिक (ब्लड शुगर को कम करने वाला प्रभाव) पाया जाता है। यह प्रभाव मधुमेह की समस्या को नियंत्रित करने में सहायक हो सकता है। इसके अलावा यह इंसुलिन को नियंत्रित करने में भी मददगार हो सकता है।

5. दिल के लिए फायदेमंद-

उच्च रक्तचाप, मधुमेह और मोटापे को हृदय रोग का जोखिम कारक माना जाता है, इस आधार पर कहा जा सकता है मखाना का सेवन इन समस्याओं से बचाव कर उनसे होने वाले हृदय रोग के जोखिम को कम कर सकता है। वहीं एक अन्य शोध से पता चला है कि कमल का बीज मखाना कार्डियोवैस्कुलर रोग (हृदय संबंधी) से बचाव का काम भी कर सकता है।

Related posts

रिफाइंड गेहूं खाना कितना हानिकारक – जानिए कैसे

admin

गैस, कब्ज, दस्त और सूजन का कारण बनने वाले खाद्य पदार्थ

admin

वजन घटाना है तो अपनाइए ये आहार

admin

Leave a Comment