डाइट

पोहा – एक हेल्दी ब्रेकफास्ट डाइट

भारत के कई क्षेत्रों में पोहा यानि चिड़वा बहुत लोकप्रिय नाश्तों में से एक है। पोहा स्वादिष्ट होने के साथ-साथ स्वास्थ्यवर्धक भी है। गुजरात, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र आदि राज्यों के विभिन्न जिलों में पोहा बड़े शौक से खाया जाता है। यह स्वाद में तो समृद्ध है ही इसमें एंटी ऑक्सीडेंट और विटामिन बी होते हैं। यह ग्लूटेन मुक्त होता है और कार्बोहाइड्रेट का अच्छा स्रोत है। यह बहुत पौष्टिक आहार है, जिसे खाने से यह प्रमुख लाभ प्राप्त हो सकते हैं-

● ऊर्जा दायक-

पोहा, स्वस्थ कार्बोहाइड्रेट के अच्छे स्रोतों में से एक है। जो शरीर को भरपूर ऊर्जा प्रदान करते हैं। इसमें लगभग 76% कार्बोहाइड्रेट तथा 24% वसा सम्मिलित होता है। इसलिए नाश्ते में पोहा खाने से बिना ज्यादा वजन बढ़ाए शरीर में पर्याप्त सक्रियता बनी रहती है।

● शर्करा को नियंत्रित करने में सहायक-

पोहा में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है और रक्त प्रवाह में शर्करा को नियंत्रित करता है। यह शुगर लेवल को अचानक बढ़ने से रोकता है। मधुमेह के रोगियों के लिए भी उपयुक्त हैं।

● पेट के स्वास्थ्य में सहायक-

पोहा एक हल्का का नाश्ता है जो हमारे शरीर की पाचन प्रक्रिया को आसान बनाता है। यह हजम होने में सरल होता है और पेट को ज्यादा देर तक भरा हुआ महसूस कराता है। एसिडिटी से बचाता है और अतिरिक्त चर्बी को बढ़ने से भी रोकता है। इसे धान को हल्का उबालकर और फिर धूप में सुखाकर बनाया जाता है। फिर, पोहा बनाने और फिर फेर्मेंटेशन से गुजारने के लिए इसे सपाट पीट कर तैयार किया जाता है। पोहा एक बेहतरीन प्रोबायोटिक है यह आपकी हेल्थ को बढ़ाकर 50 गए कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन से माइक्रोबियल वनस्पतियों को बनाए रखता है।

● वजन घटाने में सहायक-

यह उन लोगों के लिए भी एक अच्छा विकल्प है, जो अपना अनावश्यक अतिरिक्त वजन कम करके स्वस्थ रखना चाहते हैं। पोहा में ग्लूटेन की मात्रा कम होती है हल्के व पौष्टिक आहार में पोहा अद्भुत विकल्प है।

● आयरन से भरपूर-

पोहा आयरन की कमी को दूर करने में बेहद सहायक है। यह शरीर में खून की कमी या एनीमिया के खतरे को कम कर देता है। पोहा में नींबू निचोड़ कर खाने से यह आयरन, विटामिन सी का बेहतरीन कॉन्बिनेशन बनाता है। यह व्यंजन गर्भवती महिलाओं और बच्चों के लिए भी लाभदायक हैं।

● मानसिक शक्ति वर्धक पोहा💐-

पोहा, यानी पीटा हुआ चावल (बीटन राइस) विटामिन बी से भरपूर होता है। जो शरीर को ऊर्जावान रखने के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य को भी बेहतर बनाता है। पोहा के एक कटोरे में लगभग 250 कैलोरी होती हैं। यह विटामिन, खनिज, एंटी ऑक्सीडेंट प्रदान करता है। वजन बढ़ने से रोकने के लिए इसे मूंगफली या आलू डाले बिना ही खाना चाहिए।

जैतून के तेल में पकाने से पोहा के गुण और भी बढ़ जाते है। कटा हुआ नारियल और प्याज भी मिलाकर स्वादिष्ट बनाया जा सकता है। इससे ज्यादा ऑयली ना बनाएं। बहुत ज्यादा मात्रा में लगातार खाने से वजन भी बढ़ सकता है।

Related posts

काला जीरा तेल – आपके स्वास्थ्य के लिए सर्वोत्तम

admin

लगभग शून्य कैलोरी वाले आहार जो वजन घटाने में सहायक हैं

admin

चावल खाने से क्या आप मोटे हो जाते है या आप मोटापे से बचते है ?

admin

Leave a Comment