फिटनेस

थकान दूर करने के लिए अपनाएं ये तरीके

हमारे जीवन में काम करना जितना जरूरी है, उसी तरह शरीर के लिए आराम करना भी बहुत जरूरी है। अगर शरीर को ठीक से आराम नहीं मिलेगा तो शारीरिक और मानसिक दोनों प्रकार की परेशानियां बढ़ जाएंगी। यदि दिन भर के काम के बाद रात को अच्छी नींद और आराम ना मिले तो अगले दिन शरीर और दिमाग दोनों थकान महसूस करते हैं। अपने एनर्जी लेवल को ठीक बनाए रखने के लिए हमें अपनी जीवनशैली में इन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए-

● नियमित दिनचर्या-

दिन भर की नियमित और संतुलित दिनचर्या का शरीर और दिमाग की सेहत में बहुत बड़ा योगदान होता है। यदि हम अपने डेली रूटीन को बिगाड़कर रखते हैं तो शरीर बहुत ज्यादा थक जाता है। अगर हम सही समय पर सोते हैं और सही समय पर जागते हैं तो हमारे शरीर में फुर्ती और ऊर्जा बनी रहती हैं। ज्यादा देर से सोने पर हमारे शरीर के कुछ हारमोंस रिएक्शन करते हैं, जिस कारण हमें थकान, आलस और कमजोरी भी महसूस होती है।

● नियमित व्यायाम-

रोजाना 20-30 मिनट की एक्सरसाइज करने से शरीर की थकान व आलस दूर होगा तथा शरीर में फिटनेस बनी रहेगी। मन भी शांत और सक्रिय रहेगा। रोज सुबह उठकर कुछ योगा, आसन, व्यायाम करने से अन्य शारीरिक व मानसिक बीमारियां भी दूर रहेंगी।

● पानी का अधिक सेवन-

दिन में कम से कम 10-12 गिलास पानी जरूर पीना चाहिए। इससे पाचन शक्ति और ब्लड लेवल भी ठीक बना रहता है। शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा बने रहने के कारण थकान व तनाव भी दूर रहते हैं। गर्मियों के दिनों के साथ-साथ सर्दियों में भी भरपूर पानी पीना बहुत आवश्यक है।

● मोबाइल और कंप्यूटर का उपयोग-

मोबाइल या कंप्यूटर चलाते समय व्यक्ति का पूरा फोकस उसकी स्क्रीन पर होता है। जिससे निकलने वाली रोशनी व किरणें ज्यादा देर तक प्रयोग करने पर मस्तिष्क के लिए घातक भी सिद्ध होती हैं। शरीर में थकान, आंखों में जलन, दिमाग में सुस्ती पैदा होती है। आजकल हर कोई मोबाइल प्रयोग के लिए बहुत क्रेजी रहता है। लेकिन इन चीजों के प्रयोग के साथ-साथ सेहत का ख्याल रखना भी बहुत जरूरी है।

● शराब और सिगरेट से दूरी-

शराब, सिगरेट या अन्य नशीले पदार्थ हमारे शरीर की कार्यप्रणाली को अंदर से धीमा करते हैं। जिससे शरीर में आलसपन और थकावट आता है। बहुत लोग अच्छी नींद आने के भ्रम में भी इन चीजों का सेवन करते हैं। लेकिन यह सिर्फ गलतफहमी ही है। बल्कि, शराब सिगरेट से कैंसर सहित लीवर, किडनी की अनेक बीमारियां बढ़ जाती हैं।

● नियमित आहार-

रात को देर से डिनर करना, आपके शरीर की सारी प्रणाली को बिगाड़ देता है। रात को देर से खाना खाने से शरीर में सुस्ती व अन्य बुरे प्रभाव पड़ते हैं। पाचन शक्ति व इम्युनिटी पावर भी कमजोर हो जाती हैं। इसलिए देर रात में भोजन करने के बजाय रात को जल्दी समय से भोजन करें और एक अच्छी नींद व शारीरिक स्फूर्ति पाएं।

● तनाव से बचाव-

ज्यादातर मानसिक व शारीरिक परेशानियों की सबसे बड़ी जड़ मानसिक तनाव ही है। टेंशन में व्यक्ति खानपान तो भूलता ही है। नींद भी कम हो जाती है। तनाव लेने से शरीर व मस्तिष्क अंदर से कमजोर हो जाते हैं। हमें ज्यादा तनाव लेने के बजाय समस्या के हल निकालने पर फोकस करना चाहिए। Solution पर ध्यान दें Stress पर नहीं।

Related posts

मानसून में कैसे रखें अपनी स्किन का ख़्याल

admin

महिलाओं में हार्ट अटैक के लक्षण क्या हैं? – इसे कैसे पहचाने

admin

सर्दियों में अपने मांसपेशियों की देखभाल कैसे करें

admin

Leave a Comment