जीवन शैली

शरीर की इम्युनिटी पॉवर, और उसको बढ़ाने के कारगर उपाय

अक्सर हम अपने आसपास देखते हैं कि सेहत और कद-काठी से एक जैसे दिखने वाले कई लोगों में से कुछ लोग बार-बार बीमार होते रहते हैं। जबकि, कुछ लोगों पर मौसम परिवर्तन का भी कोई असर नहीं होता। आखिर, ऐसा क्यों होता है।

दरअसल, हर मनुष्य के शरीर में प्राकृतिक रूप से एक ऐसी व्यवस्था होती है जो उसे हानिकारक जीवाणुओं, विषाणुओं और मौसम के नुकसानदेह प्रभाव से बचाती है, जिसको शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता या इम्युनिटी पॉवर कहा जाता है। जिसकी इम्युनिटी मजबूत होगी, उसके शरीर में रोगाणु प्रवेश करने के बावजूद कोई हानि नहीं पहुंचा पाते। लेकिन, जिसकी इम्यूनिटी कमजोर हो वो जरा भी इंफेक्शन या मौसमी प्रभाव को नहीं झेल पाता है और बीमार पड़ जाता है।

शरीर की इम्युनिटी पॉवर कमजोर होने पर बहुत जल्दी ही सर्दी, ज़ुखाम, एलर्जी, बुखार, फ्लू, खाँसी, वायरल आदि व्यक्ति को घेर लेते हैं। सर्दियों के मौसम में हम अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को परखकर उसे मजबूत बनाने के कई कारगर प्रयास कर सकते हैं।

इम्युनिटी कमजोर होने के प्रमुख कारण…

• शरीर को ठीक से पोषण नहीं मिल पाना।
• फ़ास्ट फूड, जंक फूड, मसालेदार, ऑयली खाद्य पदार्थों का ज्यादा सेवन करना।
• एंटीबायोटिक या पेन किलर दवाओं का ज्यादा लम्बे समय तक प्रयोग करना।
• कम नींद लेना या अनावश्यक रूप से सुबह ज्यादा देर तक सोना।
• प्रदूषित वातावरण में लगातार ज्यादा समय तक रहना।
• लम्बे समय तक मानसिक तनाव लेना।
• शरीर में जरूरत से ज्यादा चर्बी, मोटापा होना।
• वजन बहुत कम होना।
• धूम्रपान, शराब, नशीले पदार्थों का सेवन करना।
• शारीरिक श्रम बहुत कम या बिल्कुल नहीं करना।
• कम मात्रा में पानी पीना।
• गर्भवती स्त्री का खान-पान ठीक नहीं हो तो होने वाले बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता पर भी असर पड़ता है।

ऐसे बढ़ाएं अपनी इम्युनिटी पॉवर…

• तनावमुक्त जीवन जीने का प्रयास करें।
• भरपूर नींद अवश्य लें।
• सर्दी के मौसम में प्यास कम लगने के बावजूद 8-10 गिलास पानी अवश्य पिएं।
• आहार में एंटीऑक्सीडेंट तत्व वाले खाद्य पदार्थों का सेवन अवश्य करें।
• बीटा केरोटीन, सेलेनियम, विटामिन ए, विटामिन बी2 व बी6, विटामिन सी, विटामिन डी, विटामिन ई युक्त खाद्य वस्तुओं का अधिक से अधिक प्रयोग करें।
• गाजर, पालक, चुकंदर, टमाटर, फूलगोभी, खुबानी, जौ, भूरे चावल, शकरकंद, संतरा, पपीता, बादाम, दूध, दही, मशरूम, तिल आदि को खाने से भी रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है।
• शरीर मे एंटीबॉडीज़ बनाने के लिए प्रोटीन युक्त आहारों का समुचित प्रयोग करें।
• सर्दियों में सुबह शरीर पर तेल मालिश करके कुछ देर बैठने से भी शरीर विटामिन डी ग्रहण करके रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।
• सर्दी के मौसम के सभी खट्टे फल इम्युनिटी बढ़ाते हैं।
• लहसुन बहुत अच्छा एंटी बैक्टीरियल एवं एंटी वायरल है। दिन में 1-2 लहसुन खा लेनी चाहिए।
• दिन में 2-3 बार ग्रीन टी पीनी चाहिए।
• सर्दियों में सब्जियों का सूप पीने से इम्युनिटी तो बढ़ती ही है, सर्दी जुखाम से भी बचाव होता है।
• नियमित रूप से योगासन व प्राणायाम अवश्य करें।
• भोजन के साथ आंवला, नींबू, अदरक, कच्ची हल्दी और तुलसी का सेवन करने से भी रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है।
• इम्युनिटी बूस्टर के रूप में नारियल पानी का सेवन भी बहुत लाभदायक रहता है।
• गिलोय का रस भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

Related posts

चाय का प्याला, सेहत का निकाल सकता है दीवाला

admin

ये हेल्थ टिप्स अपनाएं, अच्छी सेहत बनाएं

admin

स्वस्थ्य दांतो के लिए एक सही टूथपेस्ट का चुनाव कैसे करे ?

admin

Leave a Comment